najibabad kotdwar bridge

नजीबाबाद में कोटद्वार-नजीबाबाद के बीच क्षतिग्रस्त सूकरो रेलवे पुल का दूसरा पिलर ढह जाने के बाद रेलवे ने पुराने पिलरों की मरम्मत के बजाय पुल का नए सिरे से ही निर्माण करने का निर्णय कर लिया है। रेलवे अब बरसात के खत्म होने और सुखरो नदी का जलस्तर कम होने का इंतजार कर रही है।

Published in News

bridge rebuilt

नजीबाबाद : सुखरो नदी में आए उफान में बहे रेल पुल की मरम्मत पर करीब 70 लाख रुपए खर्च होंगे और इस पुल पर 15 अक्टूबर तक ट्रेन चलाने का हरसंभव प्रयास किया जाएगा। यह बात सोमवार को टूटे पुल के निरीक्षण करने पहुंचे उत्तर रेलवे के प्रमुख मुख्य अभियंता आरके अग्रवाल ने कही।

Published in News
Page 3 of 3