Saturday, 23 July 2016 12:00

लगातार खतरे की ओर बढ़ रही रामगंगा

Written by
Rate this item
(0 votes)

ramganga kalagarhबिजनौर के कालागढ़ क्षेत्र में हो रही बारिश के कारण रामगंगा बांध का जलस्तर तेजी से बढ़ रहा है। बांध का जलस्तर 331 मीटर पार कर गया है। मैदानी और पहाड़ी क्षेत्रों में बारिश होने से कई नदियां उफान पर है।

 

बृहस्पतिवार रात क्षेत्र में भारी बारिश हुई। रामगंगा बांध के नियंत्रण कक्ष के अनुसार 24 घंटों में कालागढ़ में 108 व 36 घंटों में रामगंगा बांध पर 128 मिमी बारिश रिकार्ड की गई। सुबह आठ बजे हरेवली बैराज से 435 व शेरकोट के खो बैराज से 1100 क्यूसेक पानी की निकासी जारी थी। रामगंगा बांध के कैचमैंट के इलाके में हो रही बारिश की वजह से रामगंगा बांध का जलस्तर भी बढ़ रहा है। सुबह आठ बजे बांध का जलस्तर 331.16 मीटर था। जो दोपहर 12 बजे 331.48 मीटर हो गया, जबकि खतरे का निशान 365 मीटर है। सुखा स्रोत नदियों में भी पानी तेज धार में बह रही है। इसके अलावा स्थानीय नदियां उफान पर आ गई हैं। पुराने कालागढ़ और हेड़िया बस्ती के निकट पानी का प्रवाह प्रचंड हो गया। बारिश की वजह से कोटद्वार व रामनगर मार्ग बंद हो गया।
वहीं धामपुर में भी बृहस्पतिवार देर रात बारिश शुरू हो गई। गांव भवानीपुर तरकौला के गांववासियों ने कहा कि गांव भवानीपुर तरकौला और चाकरपुर के बीच प्रवाहित बांकल नदी की पुलिया उफान से ध्वस्त होने के चार दिन बाद भी लोनिवि और जनप्रतिनिधियों ने कोई सुध नहीं ली है, जिससे गांववासियों को परेशानी हो रही है। नई बस्ती के निकट व मुख्य मार्ग पर जगह-जगह जलभराव की स्थिति आ गई। जिससे यातायात भी प्रभावित रहा। उधर, बारिश के कारण स्कूल-कॉलेजों में उपस्थिति कम होने से छुट्टी कर दी गई।

 

Additional Info

Read 286 times Last modified on Saturday, 23 July 2016 12:08

1 comment

Leave a comment