Wednesday, 10 July 2019 22:34

शेरकोट - मदरसे से पकड़ा अवैध हथियारों का जखीरा

Written by
Rate this item
(1 Vote)

sherkot madrasa weapons

शेरकोट पुलिस ने एक मदरसे में हथियारों को सप्लाई करने के खेल का खुलासा किया है। पुलिस ने मदरसे से हथियारों का जखीरा बरामद किया है।

हथियार सप्लाई करने में इस्तेमाल होने वाली स्विफ्ट डिजायर गाड़ी भी मदरसे से मिली है। मदरसे में हिकमत की आड़ में हथियार सप्लाई किए जाते थे। पुलिस ने मदरसे से मदरसा संचालक समेत छह आरोपियों को पकड़ा है। सभी से पूछताछ की जा रही है।

सीओ अफजलगढ़ कृपाशंकर कन्नौजिया ने बुधवार को पुलिस टीम के साथ शेरकोट में कंदला रोड स्थित मदरसा दारुल कुरान हमीद में छापेमारी की। पुलिस को छानबीन के दौरान मदरसे से भारी मात्रा में हथियार बरामद हुए। पुलिस को मदरसे से 36 बोर का एक पिस्टल व आठ कारतूस, 315 बोर के तीन तमंचे व 32 कारतूस, 32 बोर का एक रिवॉल्वर व 16 कारतूस बरामद किए।

इसके अलावा मदरसे से एक स्विफ्ट डिजायर गाड़ी भी मिली है। पुलिस ने मदरसे से स्योहारा के मोहल्ला शेखान निवासी फईम अहमद, शेरकोट निवासी साजिद, धामपुर के मोहल्ला अफगानान निवासी जफर इस्लाम, अफजलगढ़ के गांव फतेहपुर जमाल निवासी सिकंदर अली, बिहार निवासी साबिर व शेरकोट निवासी अजीजुर्रहमान को दबोचा है। पुलिस सभी आरोपियों से पूछताछ में जुटी है।
पुलिस का कहना है कि आरोपी मदरसे से हथियार सप्लाई करते थे। हथियार सप्लाई करने में शिव सेना लिखी गाड़ी का इस्तेमाल किया जाता था। मदरसे में पुलिस की छापेमारी से हड़कंप मचा रहा। पुलिस के मुताबिक मदरसे में हिकमत (हकीम द्वारा दवा देने) का होता है। माना जा रहा है कि हथियार खरीदने वाले ग्राहक मरीज बनकर ही मदरसे में आते थे। हिकमत की आड़ में हथियार बेचने व सप्लाई करने का काम मदरसे से किया जा रहा था। किसी को शक भी नहीं होता था कि दवाई लेने के नाम पर मदरसे में आया कोई व्यक्ति हथियार लेकर जा रहा है। साजिद मदरसे का संचालक बताया जाता है।

बिहार से आता है हथियारों का जखीरा

मदरसे में पकड़ा गया साबिर बिहार का रहने वाला है। पुलिस का मानना है कि वह बिहार से हथियार लाकर क्षेत्र में सप्लाई करता था। हथियार भी मदरसे में इसलिए छिपाए गए थे ताकि किसी को उसके काम की भनक न लगे।

हत्या में लूट में वांछित हैं दो आरोपी

मदरसे में पकड़े गए आरोपियों का पुराना आपराधिक इतिहास भी बताया जा रहा है। पुलिस का मानना है कि एक आरोपी आगरा में हुई लूट में वांछित है। एक अन्य आरोपी देहरादून में एक व्यक्ति की गला काटकर हत्या करने में दोषी है। इस मामले में छानबीन की जा रही है। पुलिस का मानना है कि गैर जिलों में वारदातों को अंजाम देने के बाद सभी आरोपी मदरसे में आकर छिप जाते थे।

पढ़ते हैं 25 बच्चे

मदरसे में 25 बच्चे पढ़ते हैं। मदरसे पर छापेमारी से हड़कंप मच गया। आसपास लोगों की भीड़ जमा हो गई। हर कोई हैरान था कि मदरसे से हथियारों की सप्लाई का खेल चल रहा था।

Additional Info

Read 314 times Last modified on Wednesday, 10 July 2019 22:50

Leave a comment