Friday, 01 October 2021 10:53

ट्रेनों के सिर्फ नाम बदले और बढ़ा दिया किराया

Written by
Rate this item
(3 votes)

महामारी का दौर बीत चला है और सब कुछ सामान्य हो रहा है लेकिन, कोविड रेल सफर में बदलाव कर गया। दरअसल, गंतव्य और ट्रेन वही और नाम बदलकर रख दिया स्पेशल ट्रेन, इनमें सफर करना महंगा हो गया। सामान्य टिकट के न्यूनतम दाम दस रुपये से बढ़ाकर तीस रुपये कर दिए गए हैं।

लॉकडाउन से पहले तक बिजनौर रेलवे स्टेशन से तीन पैसेंजर ट्रेन चला करती थीं। जिनके तीन फेरे लगते थे। पहला लॉकडाउन लगते ही इन्हें बंद कर दिया गया। अब ट्रेनों का संचालन बहाल हुआ तो चंडीगढ़-लखनऊ, देहरादून-दिल्ली और कोटद्वार-दिल्ली तीन एक्सप्रेस ट्रेनें चलाई गईं। ये तीनों लॉकडाउन से पहले भी एक-एक फेरा लगाती थीं। अब भी लगा रही हैं, लेकिन तीनों ट्रेनों के नाम बदले हुए हैं। गंतव्य और समय भी पहले वाला ही है। बदला हुआ है तो सिर्फ किराया।

पैसेंजर ट्रेन की बात करें तो बिजनौर से गुजरने वाली एक पैसेंजर बहाल हुई हैं। जोकि नजीबाबाद से चलकर गजरौला जाती हैं और आती हैं। यानि सिर्फ एक फेरा। इसका अब नाम पैसेंजर नहीं बल्कि स्पेशल ट्रेन है। सभी स्टेशन और हाल्ट पर रुकती भी हैं। बावजूद इसके एक्सप्रेस का किराया वसूला जा रहा है। इस ट्रेन में तीस रुपये से कम कोई टिकट नहीं मिलेगा। इसके अलावा दो और पैसेंजर अभी बहाल नहीं हो सकी हैं। रेलवे स्टेशन का प्लेटफार्म टिकट तीस रुपये का है। वहीं, न्यूनतम किराया भी तीस रुपये ही है। अब दोनों एक समान हो गए हैं। हालांकि बिजनौर रेलवे स्टेशन पर प्लेटफार्म टिकट बिकते नहीं हैं।

स्टेशन | अब किराया | पहले किराया
देहरादून  70 30
हरिद्वार 60 25
लक्सर 45 20
किरतपुर 30 10
नजीबाबाद 30 10
कोटद्वार 40 20
हल्दौर 30 10
चांदपुर 30 10
गजरौला 45 20
नोट:यह किराया सामान्य श्रेणी का है। आरक्षित टिकटों के दामों में भी बढ़ोतरी हुई है।

Read 158 times

Leave a comment