Friday, 05 July 2024 09:38

डेंगू और मलेरिया के खतरे से कैसे बचें, जानें सबकुछ

Written by
Rate this item
(4 votes)

डेंगू और मलेरिया: क्या हैं और कैसे फैलते हैं?

डेंगू

क्या है डेंगू? डेंगू एक वायरल संक्रमण है जो डेंगू वायरस के कारण होता है। यह एक तीव्र संक्रामक रोग है जो विशेष रूप से मच्छरों के काटने से फैलता है।

कैसे फैलता है डेंगू? डेंगू वायरस का प्रसार मुख्यतः एडीज मच्छर (Aedes aegypti) के काटने से होता है। यह मच्छर दिन के समय अधिक सक्रिय रहता है, खासकर सुबह और शाम के समय। एडीज मच्छर स्वच्छ और स्थिर पानी में पनपता है, जैसे फूलदान, कूलर, टायर आदि में जमा पानी।

डेंगू के लक्षण:

  • तेज बुखार
  • गंभीर सिरदर्द
  • आंखों के पीछे दर्द
  • मांसपेशियों और जोड़ों में दर्द
  • त्वचा पर चकत्ते
  • मतली और उल्टी

मलेरिया

क्या है मलेरिया? मलेरिया एक परजीवी रोग है जो प्लाज्मोडियम (Plasmodium) परजीवी के कारण होता है। यह रोग मादा एनोफिलीज मच्छर (Anopheles) के काटने से फैलता है।

कैसे फैलता है मलेरिया? मलेरिया का प्रसार मादा एनोफिलीज मच्छर के काटने से होता है। यह मच्छर प्लाज्मोडियम परजीवी को फैलाने का काम करता है। जब संक्रमित मच्छर किसी स्वस्थ व्यक्ति को काटता है, तो यह परजीवी व्यक्ति के रक्तप्रवाह में प्रवेश करता है और मलेरिया का कारण बनता है।

मलेरिया के लक्षण:

  • तेज बुखार और ठंड लगना
  • पसीना आना
  • सिरदर्द
  • मांसपेशियों में दर्द
  • थकान
  • मतली और उल्टी

बचाव के उपाय

बारिश के बाद डेंगू और मलेरिया मच्छरों के बढ़ने की संभावना होती है। इनसे बचाव के लिए निम्नलिखित उपाय किए जा सकते हैं:

  1. पानी के जमा होने से बचें:

    • बारिश के बाद घर के आस-पास कहीं भी पानी जमा न होने दें। यह मच्छरों के पनपने की मुख्य जगह होती है।
    • फूलदान, कूलर, पुराने टायर, कूड़े के डिब्बे आदि में जमा पानी को तुरंत साफ करें।
  2. साफ-सफाई रखें:

    • घर के अंदर और बाहर सफाई का ध्यान रखें। कचरे को नियमित रूप से हटाएं।
    • नालियों और गटर की सफाई करवाएं ताकि पानी जमा न हो।
  3. मच्छरदानी का उपयोग करें:

    • सोते समय मच्छरदानी का उपयोग करें, विशेषकर बच्चों और बुजुर्गों के लिए।
  4. मच्छर भगाने वाले उत्पादों का उपयोग:

    • मच्छर भगाने वाले क्रीम, स्प्रे, और अन्य उत्पादों का उपयोग करें।
    • इलेक्ट्रिक मच्छर भगाने वाले यंत्रों का भी प्रयोग कर सकते हैं।
  5. पूरी बांह के कपड़े पहनें:

    • मच्छरों से बचने के लिए पूरी बांह के कपड़े पहनें।
    • पैरों को भी ढक कर रखें।
  6. फॉगिंग करवाएं:

    • स्थानीय नगरपालिका से फॉगिंग करवाने का अनुरोध करें ताकि मच्छरों की संख्या कम हो सके।
  7. गमलों और पौधों की देखभाल:

    • पौधों में रखे पानी को नियमित रूप से बदलें और उनमें मच्छरों के अंडे न पनपने दें।
    • नारियल के खोल, टूटे बर्तन आदि में पानी जमा न होने दें।
  8. गौर करें:

    • अपने आस-पास अगर किसी को बुखार, सिरदर्द, बदन दर्द या अन्य डेंगू और मलेरिया के लक्षण हों तो तुरंत डॉक्टर से संपर्क करें।

इन सभी उपायों को अपनाकर आप और आपका परिवार डेंगू और मलेरिया जैसी बीमारियों से सुरक्षित रह सकते हैं।

Read 93 times Last modified on Friday, 05 July 2024 09:56

Leave a comment