Sunday, 25 December 2016 16:22

नोटबंदी - प्रेरक की मौत

Written by
Rate this item
(0 votes)

 demonetization death bijnor

मंडावर में शिक्षा विभाग में प्रेरक की हार्टअटैक से मौत हो गई। उसकी की बेटी की शादी 17 अप्रैल को है। मृतक के परिजनों का आरोप है कि बैंकों से रुपया नहीं मिलने से प्रेरक परेशान था। इसी सदमे में उसे हार्टअटैक हुआ था।

गांव मौजमपुर सुजानपुर निवासी 47 वर्षीय श्याम लाल शिक्षा विभाग में प्रेरक के रूप में कार्यरत था। उनकी बेटी की शादी 17 अप्रैल को एक गांव में है। परिजनों के मुताबिक शादी में खरीदारी करने के लिए अभी से रुपयों का इंतजाम करने में लग गए थे। वे बीते सात आठ दिन से रुपये निकालने के लिए एसबीआई व ओरिएंटल बैंक ऑफ कॉमर्स शाखा में जा रहे थे। लाइन में लगने के बाद भी उनको रुपये नहीं मिल पा रहे थे। वे रुपये न मिलने से बहुत परेशान थे। परिजनों से रुपये के इंतजाम करने की बात करते रहते थे। श्यामलाल के बेटे धर्मेंद्र कुमार के अनुसार लाइन में लगने के बाद भी पिता को रुपया नहीं मिल पाता था। इसी सदमे में उनको शुक्रवार शाम हार्ट अटैक आया और उनकी मौत हो गई। परिजनों ने शनिवार को उनका अंतिम संस्कार कर दिया।

Additional Info

Read 185 times Last modified on Sunday, 25 December 2016 16:31

Leave a comment