Sunday, 26 July 2020 15:34

ज़िले की सड़कों की हालत बदतर

Written by
Rate this item
(1 Vote)

roads in bijnor

जिले में ग्रामीण संपर्क मार्ग ही नहीं बल्कि कई अन्य जिला संपर्क मार्ग भी बदहाल है। सड़कों की हालत बदतर है, जिनसे निकलना काफी मुश्किलों भरा होता है।

सड़को में गहरे गहरे गड्ढे हो गए हैं। तमाम शिकायतों के बाद भी सड़कों की हालत नहीं सुधर रही है।कस्बा बढ़ापुर नगीना से महज 14 किलोमीटर दूर है लेकिन, इस दूरी को पूरा करने में समय ज्यादा लगता है।

कारण है सड़क का बदहाल होना।

करीब सात साल पहले नगीना से बढ़ापुर रोड को बनाया गया था। तब से लेकर आज तक इसके गड्ढे भरे जाते हैं, पूरी मरम्मत नहीं होती। अभी तीन महीना पहले भी इस सड़क में जगह जगह गड्ढे भर दिए गए थे। मामूली बारिश में ही सड़क दूसरी जगहों से गड्ढायुक्त हो गई है। सड़क की बदहाली एक कारण यह भी है कि यहां ज्यादा ट्रैफिक नहीं है।

उत्तर दिशा में जिले का आखिरी कस्बा है। एक रोडवेज आती जाती, बाकी प्राइवेट बसें हैं।हरेवली रोड पर चलना बेहद मुश्किलनगीना से हरेवली रोड भी खस्तहाल है। सड़क में जगह जगह गड्ढे बने हुए हैं। साढ़े तीन मीटर चौड़ी इस सड़क पर चलना भी वाहनों के लिए काफी मुश्किल है। सामने से अगर बाइक भी आ जाए तो कार भी कच्चे में उतरानी पड़ती है। साथ ही गड्ढे परेशान करते हैं।

नासूर बना 2 किलोमीटर का टुकड़ा

नगीना से नहटौर रोड में भी दो किलोमीटर का टुकड़ा बेहद खराब है। सड़क का यह टूटा हिस्सा ही परेशान करने वाला है। हैं हालांकि बाकि जगह यह सड़क ठीक है। लेकिन टूटी सड़क बाकी के सफर को भी भुला देती है। बताते चले कि इस सड़क की मरम्मत मरम्मत टुकड़ों में हुई है।बाईपास पर पलट रहे वाहन भागूवाला से मोटामहादेव बाइपास रोड बेहद खराब है।

दोनों ही सड़कों पर खनन के ओवर लोड वाहन चलते हैं। जिसके चलते सड़क बनने के बाद ज्यादा दिनों टिक भी नहीं पाती। उधर लोक निर्माण विभाग भी इसलिए सड़क की मरम्मत में देरी करता है। इन दोनों ही सड़कों से जुड़े दर्जनों गांव के लोग बेहद परेशान हैं।यह सड़क इतनी बद हाल है कि गड्ढो में वाहन पलट जाते हैं।

Additional Info

Read 111 times Last modified on Sunday, 26 July 2020 15:42

Leave a comment