Wednesday, 12 July 2017 18:46

नगीना मे मदरसा छात्रों पर हमला

Written by
Rate this item
(1 Vote)

attack on madrasa students nagina

नगीना के मदरसा मदीनातुल उल्लूम के खाना लेने जा रहे दो छात्रो को तीन युवा बदमाशो ने अन्धेरे में रोक कर दोनो छात्रो को मारपीट कर घायल कर दिया, छात्र का मोबाईल तमन्चे के बल पर तीनो बदमाश लूट कर हुऐ फरार हो गये. नगीना थाने की पुलिस उन तीनो लूटेरो को तीन दिन बीत जाने के बाद भी पकड़ने में नाकाम रही.

मिली जानकारी के अनुसार गत 10 जुलाई की रात्री 9/30 बजे मौ०शैखसराये स्थित मदरसा मदीनातुल के छात्रो का खाना कम पड़ गया था। जिस से मदरसे के मौलाना ने फ़ैज़ान (18 वर्ष) व मौ० आमिर (14 वर्ष) दोनो छात्रो को जामा मस्जिद के पास होटल से खाना लेने के लिये भेजा था। बताया जाता है।उन दोनो छात्रो को मौ० साहुवान पट गलीके पास तीन युवा बदमाशों ने रोक लिया और वह तीनो पहले उनके साथ गाली गलोच व अभ्रदरता पर उतर आये।जब उन दोनो छात्रो ने उनका विरोध करते हुऐ शौर मचाया तो उन बदमाशो ने फ़ैज़ान के तमन्चे की बट मार कर घायल करके उसके हाथ से मोबाईल फोन छीन कर फरार हो गये। मौ०आमिर को भी  लात घूसो से मारा।दोनो सहमें छात्र अपनी जान बचाकर मदरसे की ओर भागे। मदरसे के छात्रो ने दोनो को सहमा देख व एक को घायल देखकर तुरन्त फोन से मदरसे के जिम्मेदारान मौलाना अनवार को बताया वह मदरसे पहुँचे।और उन्होनें दोनो छात्रो को सहमा देख उनको अपने साथ लेकर हाफिज जमीर उर्फ डूबलिकेट व जामा मस्जिद के पेश इमाम मुफ्ती मौ०अवैस अकरम के साथ रात्री में ही नगीना थाने रिपोर्ट की तहरिर लेकर पहुँचे और पुलिस को घटना से अवगत कराया तो हल्के के दरोगा उन दोनो छात्रो को अपनी जीप में बैठाकर घटनास्थल पर लेकर गये।जहाँ पर घटना घटी थी।रिपोर्ट की तहरीर पुलिस को लिखकर दे दी थी।तीन दिन बीत जाने के बाद भी हल्के की पुलिस उन तीनो बदमाशो को पकड़ने में ना काम है।जिस से पुलिस के प्रति मदरसे के जिम्मेदार लोगो में भारी रोष है।
उधर नगर में चर्चा जोरो पर है।की नगीना के एक दरोगा नगर की भोली भाली जनता का उत्पीड़न करने व उन्हें डरा धमकार अवैध वसूली करने व झूठे मुकदमो में फंसाकर जेल भेज कर उनकी जिन्दगी के साथ खिलवाड़ करने व अवैध धन्धा करने वालो से मोटी रकम वसूल करके उन्हें अवैध काम करने की छुट देने की चर्चाओ में है। नगरवासीयो का कहना है की यदि पुलिस के उच्चाधिकारीयो ने इस ओर कोई ध्यान नहीं दिया तो कभी भी  नगर की जनता दरोगा की इस कार्य शैली को लेकर कभी भी  विरोध में सड़को पर उतर सकती है।

Read 285 times Last modified on Wednesday, 12 July 2017 18:54
Naushad Multani

A journalist from Samachar World

Leave a comment