Sunday, 05 September 2021 12:02

लुबना ने जलाए रखी शिक्षा की लौ

Written by
Rate this item
(2 votes)

शिक्षक वह ज्ञान का दीया है, जो स्वयं जलकर दूसरों को प्रकाश देता है। इन पंक्तियों के उद्देश्य को अपने मन में लेकर पूर्व माध्यमिक विद्यालय पित्तनहेड़ी की शिक्षिका लुबना फसीह ने कोरोनाकाल में भी बच्चों में शिक्षा की लौ जलाए रखी है।

उनका संघर्ष यहीं नहीं रुका, उन्होंने कोरोनाकाल में आनलाइन माध्यम से बच्चों को कई प्रतियोगिताओं में प्रतिभाग कराया। इन प्रतियोगिता में उनके स्कूल के छात्रों ने अपना परचम लहराया। प्रतियोगिता में विजेताओं को नकद धनराशि व प्रमाण पत्र मिलें।

परिषदीय विद्यालयों में पढ़ाई का तौर तरीका बदला, तो पूर्व माध्यमिक विद्यालय पित्तनहेड़ी भी जिले के निजी स्कूलों को मात दे रहा है। यहां की सहायक विज्ञान अध्यापिका लुबना फसीह के जुनून के सामने कोरोना भी पस्त हो गया। शिक्षिका ने मोहल्ला क्लास, वाट्सएप एवं वर्कशीट के माध्यम से छात्रों को शिक्षा देती रहीं। उनकी मेहनत का ही परिणाम है कि गांव एवं आसपास के गांव के सम्मानित व्यक्ति निजी स्कूलों की जगह अपने बच्चों को उनके स्कूल में प्रवेश दिला रहे हैं।

शिक्षिका लुबना फसीह की वर्ष 2015 में ब्लाक कोतवाली देहात के पूर्व माध्यमिक विद्यालय पित्तनहेड़ी में विज्ञान शिक्षिका के रूप में नियुक्ति हुई थी। उन्होंने बताया कि जब उनकी नियुक्ति हुई थी, तब उनके विद्यालय में करीब 40 बच्चे पंजीकृत थे। वर्तमान में उनके स्कूल में 150 बच्चे पंजीकृत हैं। उन्हें पढ़ाई के समय से विज्ञान विषय में विशेष रुचि है।

लैब में परखनलियों से सीख रहे क्रिया

सहायक विज्ञान अध्यापिका लुबना फसीह धूल के फूल को अंतरिक्ष के सपने दिखा रही है। ग्रामीण अंचल में जन्मे इन बच्चों को विज्ञान के क्षेत्र में उड़ान भरने को शिक्षिका ने परिषदीय पूर्व माध्यमिक विद्यालय में स्वयं के खर्च से विज्ञान लैब स्थापित की और स्कूल खुलने पर बच्चे रोजाना लैब में परखनलियों से विज्ञान की क्रिया सीख रही हैं। विज्ञान माडल प्रतियोगिता में जिले से राज्य तक इनके विद्यार्थी चमके हैं।

आनलाइन प्रतियोगिता में लहराया परचम

शिक्षिका लुबना फसीह ने बताया कि राष्ट्रीय बाल विज्ञान कांग्रेस मिर्जापुर क्लब द्वारा विश्व पर्यावरण दिवस-2020 पर आयोजित स्लोगन प्रतियोगिता में छात्रों ने प्रथम, तृतीय स्थान प्राप्त किया। विज्ञान, पर्यावरण नई दिल्ली ने नगर पालिका बिजनौर कोविड-19 को जागरूकता प्रतियोगिता में उनकी छात्रा ने प्रथम स्थान, नकद धनराशि मिले। आनलाइन अनेक प्रतियोगिताओं में प्रतिभाग कर अपना परचम लहराया है।

बोले अधिकारी

"शिक्षिका लुबना फसीह का कार्य सराहनीय है। अन्य स्कूलों के शिक्षकों को भी उनके प्रेरित होकर रचनात्मक कार्य करने चाहिए। ऐसे शिक्षकों को समय-समय पर सम्मानित भी किया जाता है।" -जयकरण यादव, बीएसए

Additional Info

Read 182 times

Leave a comment